प्लेटफॉर्म और ट्रेन के बीच फंसकर घिसटते युवक की हेड कांस्टेबल ने बचाई जान

भोपाल रेलवे स्टेशन पर बीती रात एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। ये हादसा हबीबगंज से हजरत निजामुद्दीन जा रही भोपाल एक्सप्रेस में सवार हो रहे युवक के साथ हुआ। युवक का पैर फिसला और वह प्लेटफॉर्म और ट्रेन के बीच की जगह में फंसकर घिसटने लगा। तभी प्लेटफॉर्म पर ड्यूटी कर रहे जीआरपी के हेड कांस्टेबल बालगोपाल शुक्ला ने दौड़ कर उस युवक को बचा लिया जिसमें वे स्वयं भी जख्मी हो गए और उनके घुटने में गंभीर चोटें आईं हैं।

जीआरपी के हेड कॉन्स्टेबल बालगोपाल शुक्ला ने बताया कि भोपाल एक्सप्रेस हबीबगंज से भोपाल स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर दो पर लग रही थी। उस वक्त करीब 9ः10 बजे थे। तभी मेरी नजर एक ऐसे यात्री पर पड़ी, जो ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच की जगह में फंसा गया था और घिसट रहा था। करीब 50 मीटर तक दौड़ लगाकर मैंने उसे पकड़ लिया और प्लेटफॉर्म की ओर खींचने लगा। इस दौरान सेना एक जवान और जीआरपी के सिपाही राजेश शर्मा ने भी सहायता की। ट्रेन की रफ्तार तब तक कम हो चुकी थी। यात्री को बाहर खींचने के दौरान गिरने से मेरे घुटने पर चोट लग गई। गनीमत रही कि यात्री को चोट नहीं आई है।

अगर समय पर प्रधान आरक्षक सूझबुझ दिखाते हुए युवक की मदद नहीं करते तो उस युवक की जान भी जा सकती थी। प्रधान आरक्षक बाल गोपाल शुक्ला की सभा यात्रियों ने प्रशंसा की और उस यात्री को बचाने के लिए धन्यवाद दिया।