बिहार चुनाव : गांधी परिवार पर जमकर बरसे पीएम मोदी

बिहार विधानसभा चुनावों को लेकर पीएम मोदी ने ताबड़तोड़ चुनावी रैलियां प्रारंभ कर दी हैं। सासाराम की रैली में पीएम मोदी के निशाने पर लालू परिवार और पूर्व की यूपीए की सरकार रही। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मंच साझा करते हुए पीएम मोदी ने लोगों से फिर एनडीए सरकार बनाने की अपील की। तो वहीं, मोदी ने अपने भाषण में गलवान वैली से लेकर पुलवामा के आतंकी हमले और अनुच्छेद 370 का भी जिक्र किया।

मोदी ने कहा, “आज बिहार कोरोना का मुकाबला करते हुए सारी सावधानियों के साथ लोकतंत्र का पर्व मना रहा है। मैंने बिहार के कई लोगों के साथ करीब से काम किया। सीखा भी। एक बात बिहारियों में बहुत अच्छी होती है, जो उनकी स्पष्टता है। वे कन्फ्यूजन में नहीं रहते हैं।”

पीएम मोदी विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि भागलपुर सहित बिहार के शहरों की जो हालत इन लोगों ने कर दी थी, वो आप अच्छी तरह जानते हैं। छोटे दुकानदार, व्यापारी कारोबारी, मजदूर इनके जंगलराज में हर कोई परेशान था। बिहार अच्छी शिक्षा के अवसरों का भी हकदार है। क्या ये उन लोगों द्वारा सुनिश्चित किया जा सकता जिन्हें शिक्षा का महत्व ही नहीं पता या वो लोग जो आईआईटी, आईआईएम और एम्स को राज्य में लाने के लिए चैबीसों घंटे काम कर रहे हैं।

पीएम मोदी ने जनता से पूछा कि बिहार बेहतर कानून व्यवस्था का हकदार है। ये कौन सुनिश्चित करेगा? वो जिन्होंने गुंडों को खिलाया-पिलाया पाला या वो जिन्होंने गुंडों पर डंडा चलाया। बिहार निवेश का हकदार है। ये कौन सुनिश्चित कर सकता है? जिन्होंने बिहार को जंगल-राज बना दिया या जो लोग बिहार को सुशासन दे रहे हैं, बिहार के विकास में जी जान से जुटे हैं। बिहार विकास का हकदार है। विकास कौन सुनिश्चित करेगा? वो जिन्होंने केवल अपने परिवार का विकास किया या वो जो लोगों की सेवा में अपना परिवार भी भूल गए।

बिहार रोजगार और उद्यमों का हकदार है। बिहार वो स्थान है जहां लोकतंत्र के बीज बोए गए थे। क्या जंगलराज में कभी भी विकास और लोकतांत्रिक मूल्य फल-फूल सकते हैं? बिहार भ्रष्टाचार मुक्त शासन का हकदार है। इसे कौन सुनिश्चित करेगा? खुद भ्रष्टाचार में लिप्त लोग या भ्रष्टाचारियों से लड़ने वाले लोग? पीएम मोदी ने कहा कि जब-जब बिहार ने इन लोगों पर विश्वास किया है, इन लोगों ने बिहार के साथ, बिहार के गौरव के साथ विश्वासघात किया गया है। बिहार को लूटकर इन लोगों ने अपने परिवार की तिजोरियां भरी हैं, रिश्तेदारों को अमीर बनाया है।