कहीं आपका क्रेडिट कार्ड आपको बर्बाद न कर दे, जानें उसका सही इस्तेमाल

बीते कुछ साल में क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल बढ़ा है। जब भी आपके पास कैश न हो या फिर आपका खाता खाली हो जाए तब आपका सहारा सिर्फ क्रेडिट कार्ड ही होता है। हालांकि, अधिकतर क्रेडिट कार्ड उच्च व्याजदरों पर उपलब्ध होते हैं, जिसका ब्याज भरना मध्यम वर्ग के व्यक्ति के लिए एक चुनौती से कम नहीं है। क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने से आपका क्रेडिट स्कोर भी जनरेट होता है। इस क्रेडिट स्कोर से आपको भविष्य में कम ब्याजदरों पर लोन प्राप्त करने की उम्मीद होती है। लेकिन, अगर आप इन कार्डों का सही उपयोग न करें तो यह क्रेडिट स्कोर आपको कर्ज के जाल में तो धकेलेगा ही उसके साथ ही आपको बर्बाद भी कर सकता है। इसीलिए टैक्स एकस्पर्ट प्रियांशु राठौर के अनुसार पांच ऐसे बड़े कारण हैं जिनके चलते आपको क्रेडिट कार्ड का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए।

ग्राहक इसे स्वयं के रुपयों की तरह प्रयोग करते हैं –
ग्राहक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते समय यह भूल जाते हैं कि यह उनका खुद का पैसा नहीं, बल्कि उधार लिया हुआ पैसा है। उन्हें इस पैसे को ब्याज सहित लौटाना होगा। जब आप क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करते हैं तो कभी-कभी जरूरत से अधिक खर्च कर जाते हैं। इसलिए क्रेडिट कार्ड किसी जाल से कम नहीं है।

निर्धारित समय-सीमा में बिल का भुगतान न करना
हाल ही में एक शोध में यह ज्ञात हुआ कि ज्यादातर उपयोगकर्ता तय समय-सीमा में अपने बिलों का भुगतान नहीं करते हैं। इसलिए, भुगतान की समय सीमा समाप्त होने के बाद क्रेडिट कार्ड रखना उनके लिए एक जोखिम भरा प्रयास हो सकता है, क्रेडिट कार्ड भुगतान देरी से करने पर दंड के साथ-साथ उच्च दर पर ब्याज लगता है। यह किसी की भी क्रेडिट रिपोर्ट को खराब कर सकता है। इसलिए, अगर आपको लगता है कि आप अपने बिल भुगतान करने में असमर्थ हैं, तो क्रेडिट कार्ड रखने से बचें।

कार्ड के ब्योरे को साझा करना
सबसे बड़ी गलती कार्ड के गापनीय विवरण को किसी अन्य के साथ साझा करना है। आज कल ज्यादातर कार्ड कंपनी का प्रतिनिधि बताकर ठग आपसे यह जानकारी निकलवा लेते हैं. कोई भी बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनी आपसे कभी इस तरह के विवरण देने के लिए नहीं कहती है। यदि कोई ऐसा करने के लिए कहता है तो यकीनन ही वह जालसाज है. मर्चेंट आउटलेट, खासतौर से पेट्रोल पंप पर कार्ड को इस्तेमाल करते हुए ध्यान देना चाहिए। यहां आपके कार्ड का क्लोन बना लेने की आशंका होती है। इससे कार्ड का दुरुपयोग किया जा सकता है।

रिवॉर्ड प्वाइंट्स पाने के लिए उपयोग करना

क्रेडिट कार्ड कंपनियां आपकी हर खरीदारी पर कुछ रिवॉर्ड पॉइंट देती हैं। जिसकी सहायता से वे आपको खर्च करने के लिए प्रोत्साहित करती हैं। केवल पॉइंट जुटाने के लिए खर्च करने में समझदारी नहीं है। न ही पॉइंट जुटाने के लिए बहुत इंतजार करना चाहिए। समय गुजरने के साथ रिवॉर्ड पॉइंट भी अपना मूल्य खोने लगते हैं।

पूरी लिमिट का इस्तेमाल

क्रेडिट कार्ड ग्राहकों को खर्च करने की पूरी आजादी देते हैं। जो वस्तुएं ग्राहक को पहले महंगी लगती थीं वह कार्ड की सहायता से अब सस्ती लगती हैं, हालांकि, अगर उपलब्ध क्रेडिट कार्ड लिमिट के बड़े हिस्से का आप इस्तेमाल करते हैं तो क्रेडिट स्कोर प्रभावित हो सकता है। लोग ऐसी चीजें खरीदते हैं जिनकी उन्हें जरूरत भी नहीं होती। वहीं जब आप कैश लेकर जाते हैं तो आपकी खरीदारी का तरीका ही बदल जाता है। आप बहुत सोच-समझकर खर्चे करते हैं।