राहुल गांधी के आरोपों के बाद कपिल सिब्बल ने ट्विटर बायो से कांग्रेस हटाया

कांग्रेस पार्टी में आपसी कलह का सिलसिला शुरू हो चुका है। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में विभिन्न प्रकार की बातें सामने आ रही हैं। मुश्किल वक्त में कांग्रेस की डूबती नाव कौन पार लगाएगा, इसके लिए नए अध्यक्ष की खोज की जा रही है। कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी ने बैठक में आरोप लगाया कि जिन्होंने इस वक्त चिट्ठी लिखी है वो बीजेपी से मिले हुए हैं। राहुल के इस बयान के बाद से कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता खफा हैं और पलटवार कर रहे हैं।

कपिल सिब्बल ने कहा कि उन्होंने पिछले 30 वर्षों में भाजपा के पक्ष में कोई बयान नहीं दिया, इसके बावजूद ‘हम भाजपा के साथ साठगांठ कर रहे हैं।’ सिब्बल ने बतौर वकील कांग्रेस को सेवा देने का उल्लेख करते हुए ट्वीट किया, ‘‘ राहुल गांधी का कहना है कि ‘हम भाजपा के साथ साठगांठ कर रहे हैं’। राजस्थान उच्च न्यायालय में कांग्रेस पार्टी का पक्ष रखते हुए सफल हुआ। मणिपुर में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने करने के लिए पार्टी का पक्ष रखा।’’

राहुल गांधी की ‘बीजेपी के साथ सांठगांठ’ वाली टिप्पणी पर कांग्रेस में बवाल मच गया है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्विटर पर अपने प्रोफाइल से ‘कांग्रेस‘ हटा दिया है। अब उनके ट्विटर हैंडल पर किसी भी पार्टी किसी भी पद का कोई जिक्र नहीं है। कांग्रेस का कहीं दूर-दूर तक जिक्र नहीं है।