COVID-19 : इस साल के आखिर तक आएगा कोराना का टीका : CCMB निदेशक

आईसीएमआर (ICMR) ने दुनिया का पहला कोविड-19 टीका 15 अगस्त तक तैयार करने की बात कही उसके एक दिन बाद ही सीएसआईआर (CSIR) के सेलुलर एवं आणविक जीव विज्ञान केंद्र (सीसीएमबी) के निदेशक ने कहा कि कोविड-19 के टीके की उम्मीद अगले वर्ष की शुरुआत से पहले नहीं की जा सकती क्योंकि इस प्रक्रिया में काफी नैदानिक परीक्षण और आंकड़ों की जांच शामिल होती है। सीएसआईआर-सीसीएमबी (CSIR & CCMB)  के निदेशक राकेश के मिश्रा ने कहा कि इस संदर्भ में आईसीएमआर का पत्र आंतरिक उपयोग के लिये हो सकता है और इसका उद्देश्य अस्पतालों पर नैदानिक मानव परीक्षण के लिये तैयार रहने का दबाव बनाना हो। इस औषधि के 15 अगस्त तक तैयार हो जाने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर मिश्रा ने ‘पीटीआई-भाषा‘ को बताया, “अगर सबकुछ वास्तव में बिल्कुल किताब में लिखी योजना के मुताबिक हुआ तब हम छह से आठ महीनों में इस बारे में सोच सकते हैं कि अब हमारे पास टीका है। आपको क्योंकि बड़ी संख्या में परीक्षण करना है। यह कोई ऐसी दवा नहीं है कि कोई बीमार हुआ तो आपने उसको दे दी और देखें कि वो ठीक हुआ या नहीं.” भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने शुक्रवार को कुछ चुनिंदा आयुर्विज्ञान संस्थानों और अस्पतालों को लिखा था कि वे यहां स्थित भारत बायोटेक के साथ मिलकर तैयार किया जा रहा कोरोना वायरस के टीके के नैदानिक परीक्षणों की मंजूरी लेने के काम में तेजी लाएं। भारत बायोटेक की इस दवा को 15 अगस्त को जारी करने की योजना है।