स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के योगदान से छात्रों को परिचित कराने प्रदर्शनी आयोजित

शासकीय नर्मदा महाविद्यालय होशंगाबाद मध्यप्रदेश में आज आजादी के अमृत महोत्सव की 75 वीं वर्षगांठ पर उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन द्वारा प्रायोजित कार्यक्रमों की श्रृंखला में प्रदर्शनी आयोजित की गई । इस प्रदर्शनी का उद्धघाटन पूर्व विधनसभा अध्यक्ष एवं वर्तमान विधायक सीताशरण शर्मा द्वारा किया गया ।

जिसमें सन् 1857 से 1947 तक के क्रांतिकारियों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, आंदोलनों तथा आजादी की प्रमुख घटनाओं के कैलेंडर, चित्रों के साथ ऐतिहासिक स्मृति चिन्ह, ताम्रपत्र और विभिन्न प्रकार की मोनोग्राफ को शामिल किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक सीताशरण शर्मा ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री जी का यह उद्देश्य है कि ऐसे आयोजनों द्वारा विद्यार्थी अपने गौरवशाली इतिहास को जाने तथा महत्वपूर्ण घटनाओं और बलिदानों से सीखकर अपने देश की प्रगति की दिशा तय कर सकें। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. ओ.एन.चौबे ने इस कड़ी में कॉलेज में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों का ब्यौरा देते हुए प्रतिवेदन प्रस्तुत किया ।

उन्होंने बताया कि आज का युवा बेहद जिम्मेदार और प्रगतिशील वैचारिक शक्ति वाला है। समन्वयक डॉ. हंसा व्यास ने संचालन करते हुए इस विषय पर कहा कि अब समय आ गया है कि हमारे युवा देश की आजादी की स्थानीय गाथाओं और योगदानों को जाने । वे जिनको शैक्षणिक अध्ययन में स्थान नहीं मिल पाया किंतु हर बलिदान ने देश के लिए स्वर्णिम आधारशिला रखी है उनको ससम्मान जन-जन तक पहुंचायें । प्रदर्शनी के संयोजक डॉ. बी.एल. राय और श्रीमती आशा ठाकुर रहे। आभार डॉ. हंसा व्यास ने तथा रिपोर्टिंग डॉ. अंजना यादव ने की ।

कार्यक्रम में डॉ. विनीता अवस्थी, डॉ. एस सी हर्णे, डॉ. संजय चौधरी, डॉ रश्मि तिवारी ,डॉ. के.जी. मिश्र, डॉ सविता गुप्ता, डॉ. ममता गर्ग, डॉ. मीना कीर, डाॅ. एन.आर. अडलक, डॉ. कल्पना विश्वास, डॉ. सुधीर दिक्षित, डॉ. राजीव शर्मा, डॉ.अंजना यादव, डॉ. अर्पणा श्रीवास्तव, मनीषा दुबे, डॉ. नीलू दुबे, डॉ.कल्पना भारद्वाज सहित समस्त प्राध्यापक गण और अत्यधिक संख्या में छात्र जुगलकिशोर, कमल दायमा,अंकित शर्मा, शैलेन्द्र चौधरी, शिवांशु चौरे त्रिलोक गोयल, शिवम दुबे, समीक्षा तिवारी मेघा सहित अनेक विद्यार्थी उपस्थित रहे।