Internet Security Tips: चीन के हैकर कहीं आपका खाता खाली न कर दें

इंटरनेट इस्तेमाल करने से पहले करें यह काम, कभी नहीं होगा आपके साथ FRAUD
आज के समय में इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत आम हो गया है। लोग किसी भी चीज के बारे में जानने के लिए सबसे पहले इंटरनेट का उपयोग ही करते हैं, क्योंकि उन्हें इस प्लेटफॉर्म पर विस्तार में जानकारी मिल जाती है। लेकिन कई बार यूजर्स अनजाने में ऐसी वेबसाइट्स पर क्लिक कर देते हैं, जिससे उनके डाटा से लेकर अकाउंट तक पर खतरा मंडराने लगता है। साइबर क्रिमिनल्स और हैकर्स लगातार यूजर्स के निजी और फाइनेंशियल डाटा में सेंध लगाने की कोशिश में लगे रहते हैं।
पिछले कुछ महीनों से भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर उत्पन्न हुई तनातनी के बीच चीनी हैकर्स भारतीय यूजर्स पर साइबर अटैक करने वाले हैं। ऐसे में अगर आप भी इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहें हैं तो आप तत्काल सतर्क हो जाएं बर्ना आप भी हो सकते हैं इसके शिकार । आपके निजी डाटा को सुरक्षित करने के लिए आज हम आपको इंटरनेट इस्तेमाल करते समय सतर्क रहने के कुछ टिप्स बताएंगे जिसके बाद आपका निजी डाटा सुरक्षित रहेगा।
इंटरनेट इस्तेमाल करने से पहले करें यह काम
यदि आप किसी भी वेबसाइट को ओपन करने जा रहे हैं तो हमेशा वेबसाइट के URL को चेक करें वो https से शुरू होना चाहिए, जो यह दर्शाता है कि ये वेबसाइट एक सिक्योर कनेक्शन से कनेक्टेड है।
पासवर्ड बनाने से पहले ये ध्यान रखें कि वो यूनिक और कठिन हो ताकि कोई भी इसे आसानी से क्रैक न कर पाए। हर ऑनलाइन अकाउंट के लिए अलग पासवर्ड रखें। साथ ही, पासवर्ड में अपर केस, लोअर केस, नंबर और स्पेशल कैरेक्टर का कॉम्बिनेशन रखें। अपने पासवर्ड को कुछ समय बाद बदलते रहें ।
अपने प्राइमरी ई-मेल एड्रेस को कभी सोशल मीडिया साइट्स के लिए इस्तेमाल नहीं करें।
सोशल मीडिया साइट्स के लिए सेकेंडरी ई-मेल एड्रेस बना कर रखें।
फ्री वाई-फाई, असुरक्षित वाईफाई कनेक्शन का इस्तेमाल शॉपिंग और बैंकिंग के लिए कभी न करें।
अगर, कोई अकाउंट आप इस्तेमाल नहीं करते हैं तो उसे डिलीट कर दें।
किसी भी फ्री सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करने से पहले सॉफ्टवेयर और वेबसाइट होस्टिंग का पता लगा लें। ये ध्यान रखें कि सॉफ्टवेयर पब्लिश करने वाले वेबसाइट का कनेक्शन सिक्योर हो।
ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल करते समय ये ध्यान रखें कि आपने URL को मैनुअली टाइप किया हो। कभी भी बैंक अकाउंट को ई-मेल या मैसेज में मिले लिंक के जरिए ओपन न करें।
ई-मेल में आए किसी भी अटैचमैंट को डाउनलोड करने से बचें, चाहे वो ई-मेल किसी नाॅन सोर्स से ही क्यों न आया हो।
अपनी जरूरी फाइल्स का रेग्युलर बैकअप लेते रहें। ऐसा करने से किसी भी रेनसमवेयर के अटैक से बचा जा सकता है।
इसके लिए आप अपने जरूरी डॉक्यूमेंट्स को हमेशा एक्सटर्नल ड्राइव में बैक-अप लें।
अपनी किसी भी जानकारी को पब्लिक प्लेटफॉर्म जैसे कि सोशल मीडिया पर शेयर न करें।
ब्राउजर में सोशल मीडिया या फिर किसी भी अकाउंट में लॉग-इन करते समय कीप मी लॉग-इन या रिमेंबर मी को चेक न करें।
अपनी जन्मतिथि, नाम, एड्रेस, मोबाइल नंबर आदि का इस्तेमाल कभी भी पासवर्ड बनाने में न करें।
किसी भी पॉप-अप ऐड को रिस्पॉन्ड न करें। इन ऐड्स को बंद करने के लिए Ctrl+Alt+Del बटन के जरिए टास्क मैनेजर में जाएं और पॉप-अप्स को ब्लॉक कर दें।
काम होने के बाद अपने ऑनलाइन अकाउंट्स को हमेशा लॉग आउट करें।