झारखंड में मास्क नहीं पहन ने पर लगेगा 1 लाख का जुर्माना, होगी 2 साल की जेल

कोरोना संकटकाल के दौरान जहां सरकारें अलग-अलग नियमों के माध्यम से लोगों को इस महामारी से बचाने के प्रयास में लगी हुई हैं। झारखंड सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर बनाए गए नियमों की अनदेखी करने वाले लोगों पर सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। सरकार ने कहा है कि नियमों की अनदेखी करने वाले और मास्क नहीं पहनने वाले लोगों को एक लाख रुपये जुर्माना और दो साल की जेल हो सकती है।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में बीते कैबिनेट की बैठक में 39 प्रस्तावों पर मुहर लगी है, जिसमें कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइंस का उल्लंघन संबंधी अध्यादेश की मंजूरी दी गई है। इस अध्यादेश के तहत दो वर्ष की सजा या एक लाख के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 436 नए मरीज मिले हैं, जिसके बाद कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ कर अब 6682 हो गई है। गुरुवार को 106 लोग ठीक हुए। अब तक राज्य में 3048 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं और 68 लोगों की मौत हो गई है।
कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन करने बाले लोगों के लिए यह फैसला भारी पड़ेगा।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दोषी पाए जाने पर दो साल की जेल भी हो सकती है। इसके अलावा ऐसी खबरें भी आई हैं कि झारखंड में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते अस्पतालों में अब मरीजों के लिए पर्याप्त जगह नहीं है लिहाजा सरकार और सख्ती से कोरोना के नियमों का पालन कराना चाहती है।

आपको बता दें कि देशभर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते नए मामलों के चलते अलग-अलग लॉकडाउन भी लगाये जा रहे हैं। कहीं संपूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है तो कहीं साप्ताहिक लॉकडाउन के जरिए कोरोना के नए मामलों को बढ़ने से रोकने का प्रयास किया जा रहा है। इस कड़ी में झारखंड सरकार का ये कदम काफी महत्वपूर्ण हैं।