मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत बेहद नाजुक : फेफड़े, किडनी और लीवर ने काम करना किया बंद

मध्य प्रदेश के राज्यपाल एवं लखनऊ के पूर्व सांसद लालजी टंडन की हालत में 40 दिन बाद भी कोई सुधार नहीं आया है। उन्हें 11 जून को लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है। मेदांता ने सोमवार शाम हेल्थ बुलेटिन जारी कर बताया, ‘‘ मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत क्रिटिकल है, वह वेंटिलेटर पर हैं। मेदांता लखनऊ की एक्सपर्ट टीम उनके बेहतर इलाज के लिए निरंतर प्रयत्नशील है।”
लालजी टंडन को जून के शुरूआती दिनों में पेशाब में दिक्कत, सांस लेने में दिक्कत और हलके बुखार के बाद मेदान्ता हॉस्पिटल में 11 जून को भर्ती कराया गया था। उनका कोरोना टेस्ट भी भी निगेटिव आया था, जबकि 14 जून को उनका इमरजेंसी ऑपरेशन किया गया था।

डॉक्टरों के मुताबिक लालजी टंडन की स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। उनके फेफड़े, किडनी और लीवर ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। उनकी डायलिसिस की जा रही है। मेदांता लखनऊ के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. राकेश कपूर ने भी बताया कि राज्यपाल लालजी टंडन की हालत नाजुक है।