नर्सिंग कालेजों की फीस बढ़ाने के प्रस्ताव को निरस्त करने के लिए NSUI ने सौंपा ज्ञापन

NSUI मेडिकल विंग के प्रदेश समन्वयक रवि परमार ने नर्सिंग कॉलेजों के संचालकों द्वारा फीस बढ़ाये जाने के प्रस्ताव पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा कि यह सरकार छात्र विरोधी सरकार है।

रवि ने कहा कि आज देश ओर प्रदेश में कोरोना महामारी की वजह से हर वर्ग के छात्र – छात्राओ के परिवार की आर्थिक स्थिति बिगड़ चुकी हैं ऐसे में कालेजों संचालको द्वारा फीस बढ़ाने का प्रस्ताव रखा जाना गलत है हम इसका विरोध करते हैं।

रवि के अनुसार पिछले कुछ दिनों पूर्व ही कालेज संचालको द्वारा शिक्षा माफियाओं के साथ मिलकर विश्वविद्यालय का संबंध्ता शुल्क 50% कम करवा लिया गया था जिसका भरपूर फायदा कॉलेज संचालक उठा रहे हैं इसके बावजुद भी इन्होंने छात्र छात्राओ की 5% भी फीस कम नहीं कि ओर अब फिर कालेजों संचालको की फीस बढ़ाने की मांग से छात्र- छात्राओ में काफी आक्रोश है।

रवि ने फीस रेगुलेटिंग कमेटी के चेयरमैन को सौंपे ज्ञापन में मांग की है कि ऐसी स्थिति में फीस कम करना चाहिए ना कि बढाना चाहिये अगर फीस बढाने के प्रस्ताव को निरस्त नहीं किया तो छात्र-छात्राओं के साथ एनएसयूआई उग्र प्रदर्शन करेगी। इस मौके पर भव्य सक्सेना , केदार जाट कार्तिक सोलंकी ने ज्ञापन सौंपा ने प्रस्ताव को निरस्त करने की मांग की