वोकैबलरी इंप्रूवमेंट पर ऑनलाइन कार्यशाला आयोजित

शासकीय नर्मदा महाविद्यालय के अंग्रेजी विभाग द्वारा वोकैबलरी इंप्रूवमेंट पर ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती वंदना एवं स्‍वागत भाषण से हुआ। सर्वप्रथम प्राचार्य महोदय ने अपने उद्बोधन में विचार प्रस्तुत करते हुए कहा कि अंग्रेजी भाषा आज दुनिया में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है और इसे निश्चित रूप से सीखना चाहिए उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि अंग्रेजी भाषा एक ऐसी भाषा है जिसे सारे देश में लोगों द्वारा आसानी से समझा जा सकता है। इसलिए इसे एकता की भाषा भी कह सकते हैं विभाग द्वारा विभिन्न कार्य शालाओं का आयोजन किया जाता रहा है। विभिन्‍न विषयों जैसे कम्युनिकेशन स्किल्स, बेसिक लैंग्वेज स्किल्स, इंपॉर्टेंस ऑफ इंग्लिश लैंग्वेज फॉर इंटरव्यू आदि द्वारा विद्यार्थियों को ज्ञानवर्धन व्‍याख्‍यान द्वारा लाभान्वित किया गया।

अंग्रेजी विभाग के सभी प्राध्यापक गण द्वारा अपने वक्तव्य में विशेष रूप से विद्यार्थियों को जागरूक बनाने के उद्देश्य से अंग्रेजी भाषा का ज्ञान अर्जित करने के उद्देश्य से लेखन शैली प्रभावशाली बनाने के उद्देश्य से और और विभिन्न विषयों पर चर्चा की जाती रही है। कार्यशाला में विद्यार्थियों को अंग्रेजी भाषा का महत्‍व के साथ भाषा सीखने में आ रही कठिनाइयों का समाधान प्राध्‍यापकगणों द्वारा बेहद रोचक ढंग से बताया जाता रहा है।

अंग्रेजी भाषा का हमारी शिक्षा प्रणाली में एक महत्वपूर्ण योगदान है इसलिए भारत में अंग्रेजी सीखना बहुत आवश्यक है प्राध्‍यापक डॉ ममता गर्ग ने भाषा की शुद्धता और सुंदरता को बनाए रखने के उद्देश्य से आयोजित इस कार्यशाला में विद्यार्थियों को व्याकरण से संबंधित मुख्य बिंदुओं पर व्याख्यान दिया जिससे वे किसी भाषा को शुद्ध बोलना पढ़ना एवं लिखना जान सके। डॉ अर्पणा श्रीवास्‍तव ने अंग्रेजी भाषा के अध्ययन का महत्व बताकर छात्र-छात्राओं को प्रेरणात्मक व्याख्यान देते हुए कहा कि लेखन कौशल में सुधार लाने के लिए निरंतर प्रयास की आवश्यकता है विभिन्न सरल उदाहरणों द्वारा विद्यार्थी भाषा कौशल को आसानी से और जल्दी सुधार पाएंगे और उन्होंने विद्यार्थियों को विभिन्न सरल टिप्स द्वारा अंग्रेजी सीखने से लाभान्वित किया । अंग्रेजी भाषा की उपयोगिता पर अपने विचार प्रस्तुत किए। सभी छात्र छात्राएं अधिक संख्या में उपस्थित होकर प्रध्‍यापकगणों के प्रेरणात्मक विचारों से लाभान्वित हुए ।

कार्यक्रम में अंग्रेजी साहित्य के छात्र-छात्राएं आशीष, प्रिया पटेल, शीतल, दीक्षा, कल्पना, जीतेंद्र, कृपा, करुणा, सोनाली, प्रज्ञा, प्रियंका, अभिषेक, अश्विनी, रुचिता, करुणा, गीतिका, जयंती, कृति, खुशबू , नीतू, नरेंद्र, नेहा, मानसी, निकिता, प्रियंका, रिंकी, साधना, काजल, सौरव, अखिलेश, नेहा, शिवकांत, निर्मित, अंशिता, गुंजन, जया, कृतिका, शिवम, उपस्थित रहे। विद्यार्थियों ने अपने ज्ञानवर्धक व्याख्यान के लिए सभी प्राध्यापकगण के प्रति आभार एवं धन्यवाद व्यक्त किया व्यक्त करते हुए कहा कि इस प्रकार की मासिक गतिविधियां हमारे सर्वागीण विकास में बहुत अधिक सहायक सिद्ध होंगी। विद्यार्थियों ने विभिन्न साहित्यिक विषयों पर ऑनलाइन वीडियो ऑडियो की सहायता से सराहनीय प्रस्तुतियां दी।