लोंगेवाला बॉर्डर पर BSF जवानों के साथ दिवाली मना रहे हैं पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हर साल की तरह इस बार भी दिवाली सेना के जवानों के साथ मनाएंगे। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री जैसलमेर में जवानों के साथ दिवाली मना सकते हैं। वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेन्द्र मोदी ने हर दिवाली जवानों के साथ मनाई है। वहीं प्रधानमंत्री ने सैनिकों के सम्मान में दीया जलाने की अपील की है। उन्होंने ने कहा कि “सीमाओं पर तैनात सैनिकों के परिवार के प्रति कृतज्ञ”।

आपको बता दें कि जैसलमेर में भारत-पाकिस्तान की सीमा मिलती है। यहां बॉर्डर पर बीएसएफ की तैनाती है। सुप्रसिद्ध तनोट माता का मंदिर भी यहीं पर है। प्रधानमंत्री जैसलमेर के लोंगेवाला बॉर्डर पर बीएसएफ जवानों के साथ दीपावली मना रहे हैं। लोंगेवाला मूल रूप से बीएसएफ का एक पोस्ट है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को दीपावली की बधाई देते हुए ट्वीट किया और लिखा कि “सभी देशवासियों को दीपावली की हार्दिक मंगलकामनाएं।

लोंगेवाला का देश के सैन्य इतिहास में अहम स्थान है. ये वही स्थान है जहां 1971 में भारत पाकिस्तान के भीषण युद्ध हुआ था। इस युद्ध में भारत की सेना ने पाकिस्तानियों पर जो कहर बरपाया था, उसे पाकिस्तान आज भी नहीं भूल पाता है।

4 दिसंबर 1971 की इस लड़ाई को लोंगेवाला पोस्‍ट पर तैनात 120 भारतीय सैनिकों ने 40-45 टैंकों के कब्जा करने आए 3000 पाकिस्‍तानी जवानों को जो शिकस्त दी थी वो इतिहास बन गया था।

लोंगेवाला चौकी पर कब्जा करने की नापाक कोशिश में पाकिस्तानियों को अपने 34 टैंक, पांच सौ वाहन और दो सौ जवानों से हाथ धोना पड़ा था, लेकिन ये चौकी अविजेय रही थी।