LIVE Mann Ki Baat: पाकिस्तान ने किया था दुस्साहस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात कार्यक्रम से जनता को संबोधित कर रहे हैं। सबसे पहले उन्होंने करगिल विजय दिवस का जिक्र किया। मोदी बोले कि आज 26 जुलाई है, आज का दिन बहुत खास है। आज ‘कारगिल विजय दिवस’ है।

कारगिल का युद्ध जिन परिस्थितियों में हुआ था, वो भारत कभी नहीं भूल सकता। पाकिस्तान ने बड़े-बड़े मनसूबे पालकर भारत की भूमि हथियाने और अपने यहाँ चल रहे आन्तरिक कलह से ध्यान भटकाने को लेकर दुस्साहस किया था। आप कल्पना कर सकते हैं–ऊचें पहाड़ों पर बैठा हुआ दुश्मन और नीचे से लड़ रही हमारी सेना, हमारे वीर जवान लेकिन जीत पहाड़ की ऊंचाई की नहीं,भारत की सेनाओं के ऊंचे हौंसले और सच्ची वीरता की हुई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ऐसे स्वभाव के लोग जो हित करता है उसका भी नुकसान ही पहुंचाते हैं। इसलिए भारत की मित्रता की जवाब में पाकिस्तान ने पीठ में छुरा घोंपने की कोशिश की थी। लेकिन इसके बाद भारत ने जो पराक्रम दिखाया वो पूरी दुनिया ने देखा। आजकल, युद्ध केवल सीमाओं पर ही नहीं लड़े जाते हैं, देश में भी कई मोर्चों पर एक साथ लड़ा जाता है और हर एक देशवासी को उसमें अपनी भूमिका तय करनी होती है।

मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा लालकिले से दिए गए संदेश को याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि अटल जी ने कहा था कि करगिल युद्ध ने हमें एक मंत्र दिया है, ये मंत्र था कि कोई महत्वपूर्ण निर्णय लेने से पहले हम ये सोचें कि क्या हमारा ये कदम उस सैनिक के सम्मान के अनुरूप है जिसने उन दुर्गम पहाड़ियों में अपने प्राणों की आहुति दी थी।

प्रधानमंत्री ने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि मेरा, देश के नौजवानों से आग्रह है, कि आज दिन-भर कारगिल विजय से जुड़े हमारे जाबाजों की कहानियाँ, वीर-माताओं के त्याग के बारे में, एक-दूसरे को बताएं, शेयर करें। उन्होंने कहा कि मैं,आज सभी देशवासियों की तरफ से हमारे इन वीर जवानों के साथ-साथ, उनकी माताओं को भी नमन करता हूँ, जिन्होंने, माँ-भारती के सच्चे सपूतों को जन्म दिया।

मोदी ने कहा कि बिहार की मधुबनी पेंटिंग वाले मास्क मशहूर हो रहे हैं। मोदी ने उन बांस की बोतलों, टिफिन बॉक्स का जिक्र किया जिन्हें नॉर्थ ईस्ट के लोग बना रहे हैं।

पीएम मोदी ने बोर्ड परीक्षा में अच्छे नंबर लानेवाली कृतिका नांदल से बात की। वह हरियाणा के पानीपत की रहनेवाली हैं। इसके बाद मोदी ने केरल के विनायक से बात की। उनसे पीएम मोदी ने पूछा कि हाउज इज द जोश। विनायक ने कहा हाई सर। पीएम मोदी ने यूपी के उस्मान सैफी से भी बात की। सैफी ने बताया कि वह अपने रिजल्ट से खुश हैं।

सात समंदर पार छोटा सा देश सूरीनाम है। भारत के लोग सैंकड़ों सालों पहले वहां गए, अब एक चौथाई से अधिक भारतीय मूल के हैं। भारतवंशी चंद्रिका प्रसाद ही वहां के राष्ट्रपति भी हैं।

कोरोना काल में बाढ़ असम और बिहार के लिए नई चुनौती बनकर आई है। मोदी ने आपदा से प्रभावित लोगों से कहा कि आपके साथ पूरा देश खड़ा है।

स्वतंत्रता दिवस पर कोरोना से आजादी, आत्मनिर्भर भारत और कुछ नया करने का संकल्प लें। मोदी ने बताया कि 1 अगस्त को बाल गंगाधर तिलक की 100वीं पुण्यतिथि है। उनका जीवन हमारे लिए प्रेरणा है।

मोदी ने कहा अभी कुछ दिन बाद रक्षाबंधन का पावन पर्व आ रहा है। मैं इन दिनों देख रहा हूं कि कई लोग और संस्थायें इस बार रक्षाबंधन को अलग तरीके से मनाने का अभियान चला रहें हैं। कई लोग इसे Vocal for local से भी जोड़ रहे हैं। हमारे पर्वों से जब आस-पास के लोगों का व्यापार बढ़े और उनका पर्व खुशहाल हो तब पर्व का आनंद कुछ और ही हो जाता है।