80 लाख के लूटकांड का पुलिस ने किया पर्दाफाश

पीलीभीत रोड पर नौ माह पहले सुंगधित तेल लूटकांड की गुथी पुलिस ने सुलझा ली है। रेलवे के कर्मचारी सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। इसी साल 25 जनवरी को पड़ोसी देश के नेपालगंज से सुगंधित तेल इनोवा गाड़ी में लादकर दो लोग लखनऊ ले जा रहे थे। यह तेल लखनऊ की ही जैन ट्रेडर्स कंपनी का था। गाड़ी को बहराइच जिले के रूपैहीडा कस्बे के मुहल्ला साकेतनगर निवासी शीतला मौर्य चला रहे थे। पूरनपुर-पीलीभीत रोड पर स्विफ्ट डिजायर सवार चार वर्दीधारी बदमाशों ने ओवरटेक कर इनोवा को रुकवा लिया था।

आरोपियों ने अपने आप को कस्टम विभाग का अधिकारी बताकर गाड़ी और उसमें सवार चालक व एक अन्य को कब्जे में लेने के बाद शीतला मौर्य को मौके पर ही उतार दिया था। इनोवा से 1.20 कुंतल तेल निकालकर गाड़ी को खुटार से पीछे छोड़ दिया था। शीतला मौर्य के साथी को सीतापुर में छोड़कर बदमाश फरार हो गए थे। पुलिस ने इस मामले में चालक की तहरीर पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर जांच की थी। इंस्पेक्टर कोतवाली एसके सिंह ने बताया कि उन्हें शुक्रवार की रात मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि लूटा गया तेल पीलीभीत से लखनऊ ले जाया जा रहा है।

वरिष्ठ उपनिरीक्षक संजय सिंह, बलरामपुर चैकी इंचार्ज गौतम सिंह और सिपाहियों को शामिल कर टीम गठित की गई। खारजा नहर पर पुलिस टीम ने घेराबंदी कर बलेनो सवार चारों बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से लूटा गया 65 लीटर सुगंधित तेल बरामद किया गया है। पूछताछ में आरोपितों ने अपने नाम फैज हदीस सीमेंटो रोड थाना सिविल लाइन प्रयागराज, आशुतोष त्रिपाठी मकान नंबर 198, विनय श्रीवास्तव मकान नंबर 248 मुहल्ला दिग्विजयनगर गोरखनाथ व साकिब निवासी मकान नंबर 910 हुमायूंपुर उत्तरी गोरखपुर बताया। पकड़ा गया आरोपित फैज हदीस रेलवे में स्पोर्ट्स कोटे से टेक्नीशियन के पद पर गोरखपुर में तैनात है। इंस्पेक्टर ने बताया कि नौ माह तक तेल उन्होंने कहा छिपाया, इसकी जानकारी नहीं दे पाए हैं। गाड़ी को पुलिस ने कब्जे में लिया है।

बदमाशों ने जिस सुगंधित तेल को लूटा था उसकी कीमत पुलिस के अनुसार 30 से लेकर 60 हजार रुपये प्रति किलो के करीब है। बदमाशों ने उस समय 70 से 80 लाख रुपये कीमत का तेल लूट था। पकड़ने पर बरामद 65 लीटर तेल बरामद हुआ। जिसकी कीमत 39 लाख रुपये बताई गई है।

बताया जा रहा है कि आशुतोष त्रिपाठी सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य करता है। वह कंप्यूटर का जानकार है। सुगंधित तेल आनलाइन बिक्री करने के लिए कंप्यूटर-इंटरनेट का सहारा लिया गया। गिने चुने व्यापारियों को जब इसका पता चला तो उन्हें एक दूसरे से समझते देर नहीं लगी। इसके चलते पुलिस को भी सफलता मिली और वारदात का राजफाश हुआ।

घटना के दिन फैज हदीश और आशुतोष त्रिपाठी के साथ पीलीभीत का बदमाश अपने एक अन्य साथी के साथ था। साकिब और विनय श्रीवास्तव को जिस जगह लखनऊ में तेल लेकर जाना था, वहां लेकर जाने वाले थे। उन दोनों के खिलाफ अलग से कार्रवाई की गई है। वरिष्ठ उपनिरीक्षक ने बताया कि घटना के दिन शामिल रहे पीलीभीत के एक बदमाश और उसके साथी की तलाश की जा रही है।

जनवरी माह में लूटे गए 1.20 लीटर तेल में 65 लीटर सुगंधित तेल को बरामद करने के साथ चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें एक आरोपित रेलवे का कर्मचारी है। अभी कुछ आरोपित फरार हैं। जिनकी तलाश में पुलिस जुटी हुई है।

एसके सिंह इंस्पेक्टर कोतवाली पूरनपुर