आदिवासी लोक कला एवं बोली विकास अकादमी के निदेशक बने प्रो. धर्मेंद्र पारे

आदिवासी लोक कला एवं बोली विकास अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद भोपाल में प्रोफेसर धर्मेंद्र पारे को निदेशक नियुक्त किया गया है। वे शासकीय हमीदिया कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में हिंदी विषय के प्राध्यापक हैं। प्रो.पारे विगत 25 सालों से जनजातीय भाषाओं एवं वाचिक संस्कृति के साथ ही लोक एवं वाचिक साहित्य परंपरा पर गहन अध्ययन कर रहे हैं।

प्रो. पारे की लगभग 16 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। उन्होंने कोरकू वाचिक साहित्य पर डीलिट् की उपाधि प्राप्त की है। जनजातीय और लोक संबंधी विषयों पर उन्हें अनेकों सम्मान प्राप्त हुए हैं।