कृष्ण जन्माष्टमी 2020 – जानिए कब है शुभ मुहूर्त और किस तरह मनाए जन्माष्टमी

भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव यानी जन्माष्टमी 11 अगस्त और 12 अगस्त को मनाया जा रहा है । भगवान कृष्ण का जन्म भाद्रपद कृष्ण अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था, लेकिन इस बार तिथि और नक्षत्र में थोड़ा अंतर देखने को मिला रहा है । 12 अगस्त के दिन जन्माष्टमी व्रत के लिए सही माना जा रहा है । आज हम आपको जन्माष्टमी के व्रत विधि और पूजा के बारे में बता रहे है ।

जन्माष्टमी का मुहूर्त और तिथि – 11 अगस्त को अष्टमी तिथि सुबह 9 बजकर 6 मिनट से शुरु होगी । यह तिथि 12 अगस्त तक सुबह 11 बजकर 16 मिनट तक रहेगी । शुभ मुहूर्त बुधवार की रात 12 बजकर 05 मिनट से 12 बजकर 47 मिनट बजे तक का है ।

जन्माष्टमी का ऐसे करें व्रत –

  1. सुबह जल्दी उठकर स्नानादि नित्यकर्मो से निवृत्त हो जाएं ।
  2. भगवान कृष्ण का मंदिर अच्छे से सजाएं
  3. भगवान को गंगाजल से स्नान करायें । नए वस्त्र पहनाए जाते हैं ।
  4. रात 12 बजे कृष्ण जी झूला झुलाएं और उनका जन्मोत्सव मनाएं ।
  5. कृष्ण जी की आरती करें और मंत्रोच्चारण करें ।
  6. भगवान को माखन – मिश्री का भोग जरुर लगाएं
  7. अंत में प्रसाद का वितरण करें ।