राजस्थान प्रदेश कांग्रेस दफ्तर से सचिन पायलट के पोस्टर हटाए गए

राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर कांग्रेस पार्टी की विधायक दल की बैठक के लिए पार्टी के 90 विधायक पहुंचे हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की नाराजगी के बाद सचिन पायलट के पोस्टरों और नेम प्लेट को हटा दिया गया है। राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे के अनुसार कांग्रेस विधायक दल की बैठक में बगैर किसी सूचना के न शामिल होने वाले विधायकों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। वहीं, दूसरी ओर सचिन पायलट गुट के करीब 30 विधायक होने का दावा किया जा रहा था लेकिन अभी खबर है कि सिर्फ 16 विधायक ही ऐसे हैं, जो जयपुर में नहीं हैं। जयपुर में मौजूद विधायकों का दावा है कि सौ से अधिक विधायक हमारे समर्थन में हैं।

कांग्रेस के प्रवक्ता सुरजेवाला ने कहा कि कभी-कभी वैचारिक मतभेद उत्पन्न हो जाते हैं जो प्रजातांत्रित प्रणाली में स्वाभाविक भी है। परन्तु वैचारिक मतभेद पैदा होने से चुनी हुई अपनी ही पार्टी की सरकार को कमजोर करना या भाजपा को खरीद-फरोख्त का मौका देना अनुचित है।

आनको बता दें कि अशोक गहलोत ने केंद्रीय नेतृत्व से अपील की है कि सचिन पायलट समेत उनके साथी विधायकों के खिलाफ तत्काल एक्शन लिया जाए। क्योंकि ये लोग सरकार को अस्थिर करने में जुटे हुए हैं। इसके अलावा सचिन पायलट से प्रदेश अध्यक्ष का पद वापस लेने की अपील भी की है।