संघ के स्वयंसेवको ने रखा 24 घंटे का ई-उपवास

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ब्रज प्रान्त ने कुटुंब प्रबोधन गतिविधि की ओर से ई-उपवास का आयोजन किया गया। दरअसल, आज के समय में समाज के अनेकों लोग सोशल मीडिया और टेलिविजन जैसे साधनों पर घंटों बिता रहे हैं। जिससे अधिकतर लोग समाज से दूर होते जा रहें हैं और उन्में आपसी बातचीत और प्रेम-भाव निरंतर दूर हो रहा है। एक घर में रहते हुए भी परिवार के सभी सदस्य वर्चुअल दुनिया में ऐसे मशगूल हैं कि अपनों के बीच ही घुलमिल नहीं पा रहे हैं। जब सोशल मीडिया नहीं था तो भारतीय पारिवारिक परंपरा में सब परिजन एक-दूसरे से आपसी चर्चा किया करते थे। साथ बैठकर भोजन करने के साथ एक-दूसरे का सुख-दुख जानते थे। इसीलिए संघ ने एक दिवसीय ई-उपवास का आयोजन किया जिससे सभी सदस्य आपस में बैठकर भोजन करें और परिवार जनों केे साथ वार्तालाप कर सकें।

संघ से जुड़े संगठनों ने शनिवार रात 12 बजे से रविवार रात 10 बजे तक अपने मोबाइल फोन, इंटरनेट और टीवी बंद रखे। कुछ लोगों ने मौन वृत भी रखा तो अधिकांश लोगों ने परिवार के साथ समय बिताया।
ब्रज प्रान्त में पचास हजार परिवारों में ई-उपवास के दौरान स्वयंसेवकों ने इंटरनेट और संचार के माध्यमों से दूरी बनाई रखी। इसके लिए उन्होंने फेसबुक और व्हाट्स एप स्टेटस पर अपने सारे शुभचिंतकों को ई-उपवास की सूचना पहले ही पोस्ट करके दे दी थी ताकि इस दौरान उनको कोई भी कॉल करके ई-उपवास में बाधा न बन सके।

इस दौरान परिवार के साथ सामूहिक भजन और भोजन किया गया। परिवार के वरिष्ठजन के साथ सभी सदस्यों ने परिवार की छह पीढ़ियों की विस्तार से चर्चा की। भगवान शिव की आरती और गाय को चारा खिलाया गया। 1 से 100 तक गिनती, कहानी, पुराने फोटो के एलबम देखने में वह वक्त बिताया, जो वे सोशल मीडिया पर बिताते थे। इस कार्यक्रम में संघ के अनुषाांगिक संगठन राष्ट्र सेविका समिति, सेवा भारती आदि भी शामिल हुए।