वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. कृष्णगोपाल मिश्र को “हिन्दी सेवा सम्मान 2020”

भारत के प्रमुख हिन्दी समाचार पोर्टल प्रभासाक्षी की 19 वीं वर्षगाँठ के अवसर पर आयोजित दो दिवसीय वेबिनार में ‘हिन्दी सेवा सम्मान-2020’ से वरिष्ठ साहित्यकार एवं प्राध्यापक डॉ. कृष्णगोपाल मिश्र को सम्मानित किया गया। डॉ. मिश्र के अलावा देशभर से 10 अन्य लेखकों को भी यह सम्मान दिया गया।

प्रभासाक्षी द्वारा आयोजित किए गए वेबिनार में वरिष्ठ पत्रकार एवं पूर्व सांसद तरुण विजय ने डिजिटल माध्यम से ‘मेरी भाषा ग्लोबल भाषा’ विषय पर परिचर्चा की। उन्होंने कहा कि हिन्दी ऐसी भाषा है जिसके पास एक हजार ट्रिलियन तक के शब्द हैं।

इसी परिचर्चा में भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक संजय द्विवेदी ने कहा कि प्रभासाक्षी अपना 19 साल का सफर पूरा कर रहा है और जिस तरह से पोर्टल ने हिन्दी की सेवा की है वह सराहनीय कदम है। मुझे लगता है हिन्दी ने तकनीकी के साथ मिलकर एक कदम ताल बना दी है। उन्होंने कहा कि गूगल के एक सर्वे के मुताबिक इंटरनेट में हिन्दी पढ़ने वालों की भाषा 94 फीसदी बढ़ रही है जबकि अंग्रेजी पढ़ने वालों की 17 फीसदी बढ रही है। दो दिवसीय कार्यक्रम में श्री धरम लाल कौशिक (नेता प्रतिपक्ष, छत्तीसगढ़ विधान सभा), श्री दिनेश कामत (अखिल भारतीय संगठन मंत्री, संस्कृत भारती), श्री दयानंद काम्बले (उपनिदेशक महाराष्ट्र सूचना केंद्र, नयी दिल्ली), श्रीमती प्रियंका चतुर्वेदी (शिव सेना प्रवक्ता), प्रो. के.जी. सुरेश (VC, MCU भोपाल), शाज़िया इल्मी (भाजपा प्रवक्ता), सुप्रिया श्रीनेत (कांग्रेस प्रवक्ता), श्री रोहित पाण्डेय (वरिष्ठ अधिवक्ता SC), श्री तरुण विजय (पूर्व सांसद एवँ वरिष्ठ पत्रकार)
प्रो. संजय द्विवेदी (महानिदेशक, भारतीय जनसंचार संस्थान- IIMC), मुख्तार अब्बास नकवी (केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ), डॉ. सुधांशु त्रिवेदी ( भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद), शाहिद इकबाल चौधरी (DC श्रीनगर) ने अपने विचार व्यक्त किए।