बाबुओं की लापरवाही से 1600 शिक्षामित्रों का मानदेय अटका

परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत शिक्षामित्रों का सिंतबर का मानदेय अभी तक प्राप्त नहीं हो सका है। शिक्षामित्र-शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राम सिंह राठौर ने प्रभारी बीएसए को ज्ञापन सौंपकर मानदेय दिलाने की मांग की है। प्राथमिक विद्यालयों में तकरीबन 1600 शिक्षामित्र कार्यरत हैं। आरोप है कि ब्लॉक संसाधन केंद्र पर तैनात बाबुओं की लापरवाही के चलते शिक्षामित्रों को समय से मानदेय नहीं मिल पाता है। इन शिक्षा मित्रों को सितंबर का मानदेय अब तब नहीं मिल सका है। शिक्षामित्रों का कहना है कि महंगाई के इस दौर में 10 हजार रुपये से परिवार को भरण पोषण हो पाना मुश्किल है, ऊपर से लिपिकों की लापरवाही के चलते वह भी समय से नहीं मिल पाता है। इस संबंध में शिक्षा मित्र-शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष राम सिंह राठौर ने प्रभारी बीएसए मदनलाल वर्मा को ज्ञापन सौंपकर कार्यालय में तैनात लिपिकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सितंबर का मानदेय जल्द दिलाने की मांग की है। प्रभारी बीएसए मदनलाल वर्मा ने बताया कि शिक्षामित्रों को मानदेय जल्द दिलाया जाएगा।