7 साल बाद बिलासपुर के अचानकमार टाइगर रिजर्व में दिखाई दिया दुर्लभ ब्लैक पैंथर

छत्तीसगढ़ में बिलासपुर के अचानकमार टाइगर रिजर्व में दुर्लभ ब्लैक पैंथर (काला तेंदुआ) दिखाई दिया है। ब्लैक पैंथर की तस्वीरें ट्रैप कैमरों में कैद हुई हैं। ब्लैक पैंथर 25 मार्च से 25 अप्रैल के बीच कई बार ट्रैप कैमरों के सामने आया और उसकी शानदार तस्वीरें कैमरों में कैद हो गई।
छत्तीसगढ़ के वन विभाग के अधिकारियों को 7 साल बाद बिलासपुर के अचानकमार टाइगर रिजर्व में एक ब्लैक पैंथर (काला तेंदुआ) दिखाई दिया। इन तस्वीरों को वन विभाग ने शुक्रवार को जारी किया।

2017 में भी देखा गया था ब्लैक पैंथर
वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ब्लैक पैंथर को साल 2017 में भी देखा गया था। इसकी जानकारी 2011 में ही मिल गई थी,लेकिन इसे पहली बार साल 2017 में देखा गया। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि ब्लैक पैंथर को रिजर्व एरिया में देखा गया है। ब्लैक पैंथर को ढूंढ़ने के लिए ट्रैकिंग और पेट्रोलिंग की जा रही है,लेकिन उसके सटीक ठिकाने का खुलासा नहीं किया जाएगा।
ब्लैक पैंथर कोई अलग प्रजाति नहीं
कई लोग समझते हैं कि ब्लैक पैंथर एक अलग ही प्रजाति है, लेकिन यह सरासर गलत है। दरअसल ब्लैक पैंथर के शरीर में मैलेनिन की मात्रा ज्यादा होती है,जिसकी वजह से उसका रंग काला होता है। मैलेनिन शरीर का वह पदार्थ होता है,जो त्वचा का रंग निर्धारित करने के लिए जिम्मेदार होता है।

राहुल गड़वाल