ट्रेन आते ही भोपाल स्टेशन पर ऑटोमेटिक जलेंगी लाइटें, जाते ही 70 फीसद लाइट होंगी बंद

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में रेलवे स्टेशन पर बिजली बचाने की दिशा में रेलवे मंडल ने अहम कदम उठाया है। भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर जैसे ही कोई ट्रेन आएगी, वहां लगी सभी एलईडी लाइट चालू हो जाएगी और ट्रेन के जाते ही 70 फीसद लाइटें स्वतः ही बंद हो जाएंगी। इससे 70 फीसद बिजली की बचत होगी। सोमवार को भी ट्रेन के आने व जाने पर लाइटें चालू व बंद हुईं। भोपाल रेल मंडल के हरदा स्टेशन पर यह पहल की जा चुकी है।


भोपाल मंडल में प्लेटफार्म की लाइटों को होम सिग्नल व स्टार्टर सिग्नल से जोड़ा गया है, इससे ट्रेन के प्लेटफॉर्म पर आने के दौरान लाइटें ऑटोमेटिक जल जाती हैं और ट्रेन के स्टेशन से गुजरने के बाद बंद भी हो जाती हैं। भोपाल रेल मंडल के पीआरओ के अनुसार ये लाइट्स सर्किट से ऑपरेट होंगी जो अपने आप बंद और चालू होंगी। प्लेटफार्म नंबर-1 पर शाम 6 बजे से अगले दिन सुबह 6 बजे तक करीब 200 यूनिट बिजली की खपत होती है, जो अब घटकर 80 यूनिट रह जाएगी। भोपाल मंडल यह व्यवस्था अन्य स्टेशनों पर भी करने जा रहा है। इससे न सिर्फ बिजली की बचत होगी बल्कि पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भी सार्थक प्रयास होगा।