यमराज और चित्रगुप्त के भेष में लोगों को दे रहे हैं मास्क लगाने की समझाइश

भोपाल के सिन्धी कालोनी चौराहे पर पुलिस प्रशासन के साथ यमराज और चित्रगुप्त के भेष में राष्ट्रीय सेवा योजना और आवाज के स्वयंसेवक लोगों से मास्क लगाने की अपील कर रहे हैं । यमराज कहते हैं कि चित्रगुप्त अमुक सज्जन से कोरोना की संवेदनशीलता को देखते हुए भी मास्क नहीं लगाया है। इनका क्या किया जाए तो चित्रगुप्त कहते हैं कि सरकार, फिलहाल इन्हें मास्क लगाने की समझाईश देकर व इन्हें मास्क देकर छोड़ दिया जाये। इस प्रकार यमराज उस व्यक्ति को छोड़ देते हैं। साथ ही हाथ धुलाई, मास्क लगाने, भौतिक दूरी रखने तथा हाथ न मिलाने से लेकर बच्चों की सुरक्षा से जुड़े संदेशों के माध्यम से जनसामान्य को जागरूक करने के लिए एक सन्देश वाहन भी साथ ही चल रहा है। इसके अलावा युवा साथी पर्चे बांटकर भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

यह जागरुकता अभियान एक सप्ताह तक शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर पुलिस प्रशासन के साथ व इसके अलावा शहर की झुग्गी बस्तियों, कालोनियों आदि में जनसामान्य को जागरूक करेगा। इस अभियान में रैप सांग के साथ-साथ कोरोना को लेकर गाने और अन्य सामग्री भी हैं|

भोपाल में कोरोना की बढ़ते मरीजों को देखते हुए आवाज, जिला प्रशासन, राष्ट्रीय सेवा योजना और यूनिसेफ की साझा पहल के तहत 8 जुलाई से शुरू होकर एक सप्ताह तक चलने वाले इस जागरूकता अभियान का शुभारम्भ कलेक्ट्रेट परिसर में अपर कलेक्टर चंद्रशेखर शुक्ला तथा उमराव सिंह मरावी व संयुक्त कलेक्टर संजय श्रीवास्तव द्वारा किया गया। इस अभियान के जागरूकता वाहन के विषय में बताते हुए आवाज के निदेशक प्रशांत दुबे ने कहा कि इस वाहन में एक ओर तो कोरोना को लेकर रखने वाली सावधानियां हैं जबकि दूसरी ओर कोरोना लॉकडाउन में बच्चों के साथ होने वाली हिंसा और सुरक्षा को लेकर पालकों के लिए विशेष दिशानिर्देश हैं। इसी जागरूकता वाहन में कोरोना हेल्पलाइन के नंबर भी दिए गए हैं। इस जागरुकता वाहन में बच्चों की सुरक्षा को लेकर विशेष रूप से सन्देश तैयार किये गए हैं।

जागरूकता वाहन के शुभारंभ अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना के बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्वयक डॉ. अनंत सक्सेना, आवाज के निदेशक प्रशांत दुबे के साथ रोली शिवहरे, गौरव म्हसे, नितेश व्यास, अंकिता अवस्थी और अस्मा खान शामिल थे। राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों में टीना श्रीवास, रूचि सिंह, विशाल यादव, सौरभ चौकसे, अविनाश चौहान शामिल हैं। यूनिसेफ की सहयोगी संस्था ममता की ओर से जिला समन्वयक तुषार घोहाटे भी शामिल हुए।