योगीराज में धड़ल्ले से उड़ रही तीन तलाक की धज्जियां

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में एक तीन तलाक का मामला सामने आया है । पीलीभीत में एक युवक ने तलाकशुदा युवती को पहले अपने प्रेमजाल में फंसाया । उसके बाद शादी का प्रस्ताव भी रखा लेकिन युवती ने गरीब परिवार से ताल्लुक होने व खुद के तलाकशुदा होने का हवाला देते हुए इंकार कर दिया।  इसके बाद भी युवक ने शादी का झांसा देकर उससे कई बार संबंध बनाए । जब युवती गर्भवती हो गई तो मामला सामने आया ।

यह बात पीलीभीत जिले के न्यूरिया कस्बे की है जहां एक युवती गर्भवती हो गई तो गांव में पंचायत बैठी तो उसके दबाव में युवती से निकाह कर लिया । फिर धोखे से उसका गर्भपात करा निकाह के 12 दिन बाद युवती को मायके छोड़ने गया । इसके बाद दहेज में पांच लाख रुपये और बाइक की मांग की । जब युवती ने अपनी गरीबी का वास्ता दिया तो सबके सामने तीन तलाक दे दिया । पीड़ित युवती ने शौहर समेत पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है ।

 युवती ने डीआईजी को दिए शिकायती पत्र में बताया कि सदर कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला हाथीखाना निवासी मोहसिन खान ने पिछले साल घनिष्ठता बढ़ाते हुए बताया कि वह जजी में पेशकार है । उससे शादी करना चाहता है । तब उसे स्पष्ट बताया था कि वह पहले से तलाकशुदा है । उसका परिवार बेहद गरीब है । किसी प्रकार का दहेज दे पाने की हैसियत नहीं है । इसके बावजूद युवक शादी करने को राजी हो गया । उसने शादी का झांसा देकर कई बार दुष्कर्म किया ।

जिससे वह गर्भवती हो गई । इसके बाद शादी की बात करने पर लगातार टाल मटोल करने लगा । पंचायत बैठी तो उसके दबाव में विगत पहली अगस्त को उसने निकाह कर लिया । उसे लेकर शहर में आवास विकास कॉलोनी में रहने लगा । कुछ दिनों के बाद उसका गर्भपात कराया और उसको सबके सामने तीन तलाक दे दिया ।

अब इस मामले में पुलिस ने डीआईजी के निर्देश पर मारपीट, दहेज उत्पीड़न निवारण अधिनियम तथा मुस्लिम महिला विवाह पर अधिकारों की सुरक्षा अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है ।